#Loveuary ❤TeddyLove! #Day10

 #Humanity #struggle #showoff #childhood 

आज मन बहुत बेचैन हैं…बिल्कुल अच्छा नहीं लग रहा! रह-रह कर मन में टीस उठ रही हैं…कितना अजीब लगता हैं न हम दिखावे में इस कदर खोते जा रहें हैं कि इंसानियत की गरिमा भी भूलते जा रहें हैं…खुद से भी आज बहुत नाराज़गी हैं,बहुत कुछ दिमाग में आज एकसाथ चल रहा हैं..अनेकों सवाल मन को कचोट रहें हैं…

बड़ा अफ़सोस है हमको ये मंजर देखकर…

हसरतों के हिलोरें हैं ,मगर ठहरा है मन शांत सा!!
…तुझे जो बेचता हैं, और जो तुझे खरीदता हैं….इनदोनो के बीच की कड़ी तो बहुत सी अनकही भावनाओं से पटी पड़ी हैं! वो बच्चा उस वक़्त इतना बड़ा हो जाता हैं,जिस वक़्त उसे जिम्मेदारियां का एहसास करा कर दूकान पर बैठा दिया जाता हैं…और वो इन  खूबसूरत खिलौनों के साथ खेलने का सोचता भी नहीं लेकिन जब उसके हमउम्र बच्चे अपने बड़ो के साथ इसे खरीदने आते हैं तो उनको इसकी खूबियाँ क्या खूब समझाता हैं वो मासूम,जो वक़्त के साथ तो नहीं…बल्कि हालात ने उसे एक झटकें में बड़ा बना दिया…उसे इन खिलौनों में अपना बचपना नज़र नहीं आता कभी भी बल्कि वो उनकी वो जमा पूँजी थीं….जिसपे उनकी हर एक जरूरतों का हिसाब लिखा था..उनके मन में बस ये चलता हैं..अगर आज ये बिक गया तो उससे आये पैसों से वो काम हो जाएगा!!

 यहीं हैं आज के वक़्त की सच्चाई किन्ही के लिए ये सेलिब्रेशन करने का दिन हैं..तो किन्हीं के लिए आज भी वहीँ संघर्ष भरा दिन…


कुछ स्याह पन्ने हैं ,कुछ बिल्कुल सफ़ेद है..

ज़िन्दगी कुछ इस तरह की ही किताब है!!


P.C-Google

❣EmotionalQueen All Rights Reserved©

                          2k17©आपकी….Jयोति🙏



Advertisements

49 thoughts on “#Loveuary ❤TeddyLove! #Day10

  1. बहुत सही खा ज्योति , जो बेचता है उसका मन भी कभी खेलने को ललचाया होगा पर आज उसका मन भर गया है इन बेजान खिलोनो से क्यूँकि वह ख़ुद ही किसी के हाथ का खिलोना है । मेरा मन भी रुआँसा सा हो जाता है यह सब देखकर पर मात्र रुआँसा .. करने जाओ तो पंगु के भाँति हो जाते हैं , सो में कोई एक बच्चा तैय्यार होता है यह सब छोड़ पढ़ने लिखने को .. सब झट कहते हैं नहीं । पर प्रयासरत रहेंगे तो कुछ हल निकलेगा ही । शायद कभी

    Liked by 1 person

      1. जानती हूँ आप निर्मल हृदय हैं और ऐसे व्यक्ति समाज के लिए उपहार होते हैं ।

        Liked by 1 person

  2. My translator (google) is not brilliant, but I get the idea and the last couple of lines about life having both dark and white pages is beautiful (the book of life)… our future is the blank pages maybe 🙂 Thanks for sharing and for visiting my place.

    Liked by 2 people

  3. Wish I had a better translation. Am not sure what the story is here? Think it has to do with perceptions, purpose and occupations, our pastimes and the things we value and how that affects our childhood, and what we take from that through the years. How we must change our ideas of what is important. Well at any rate it is amazing even if misunderstood. Thanks

    Liked by 5 people

    1. Angel , This is about the kid on the street selling a teddy and another kid buying with his parents .. Jyoti has shared the feel of both the kids – the one who is selling is not able to play with it but telling the specialities of the product to the buyer .. It is about the emotions and limitations of the poor child who has no options except selling and earn his living .. A thoughtful thought by Jyoti 🙂

      Liked by 3 people

      1. प्यार तो विचारों से होती हैं औऱ जब किसी के विचार दिल को छूते हैं तो वो अजनबी तो बिल्कुल नहीं रहता..

        Liked by 1 person

      2. शायद हमारा नाम , प्रेम , व हमारा कृष्ण एक ही है इसीलिए ये तारतम्य जुड़ गए हैं । धन्यवाद ज्योति 😍😁🌹waiting to read eagerly what next on the kiss day 🙂

        Liked by 1 person

  4. फुल बेच रही थी एक फुल सी बच्ची.जिम्मेदारियों ने छीन लिया उससे उसका बचपना.खिलौने खेलने की उम्र थी.खिलौने थे खिलौने बेचने लगें ..खिलौने देख कर ही पेट भर लिया उनका बचपना.खाली प्लेट था.खाली पेट था.खिलौने बिकते ही आई कुछ जो रोटियाँ.मुस्कुराया पेट.. जिन्हे खोज रही थी बड़े देेर से..मुस्कुरायीं थालीयाँ. 😢😢

    Liked by 3 people

  5. तुझे जो बेचता हैं, और जो तुझे खरीदता हैं….इनदोनो के बीच की कड़ी तो बहुत सी अनकही भावनाओं से पटी पड़ी हैं! 
    यही सोचने वाली बात है बस 😶 ,

    सच्चाई को बयाँ करती हुई एक अच्छी पोस्ट ✅

    Liked by 2 people

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s