#Loveuary ❤Affection! #Day15

#Feeling #love #Innocence #Happy #Blog

...सुबह आँख हीं आज देर से खुली..फिर,क्या था?? आज तो लग गयी क्लास अपनी…कितना कुछ चलने लगा एकसाथ दिमाग में पूछो मत,सोच रही थी कैसे-कैसे सब होगा!! दौड़-भाग मच गयी मेरे कमरे में और वहाँ दौड़ में भाग तो मैं अकेले हीं ले रही थी,लेकिन लग ऐसा रहा था जैसे सैकडों कैंडिडेट हैं,जिनको पीछे छोड़ के जीतना था मुझे!! सबसे पहले भाग के खिड़की को खोला मैंने सूर्य को हाथ जोड़कर प्रणाम किया..फिर भागी वहां से मैं सब काम को निपटाने..मैं खुद देर से उठी थी और उसकी नाराजगी सब पर निकाल रही थी..कदम तो तेजी से चला रही थी लेकिन,लग ऐसा रहा था जैसे वो चल हीं न रहे हों,लगने लगा मुझे की आज तो ऑफिस पहुँचने में हुआ लेट..माँ अच्छे से खाना खाने के बारे में बोल रही थी और मैं चिल्लाते हुए बोल रही थी,..नहीं खाना मुझें ऐसे हीं लेट हुआ हैं और आप खाने के पीछे पड़ी हो!! अभी झुँझलाते हुए मैं दरवाज़े से बाहर निकली हीं थी की अचानक याद आया की जल्दी-जल्दी में मैं फाइल भूल गयी लेना हीं..अपने कमरे के तरफ उसैन बोल्ट बन के भागी…कमरे में गयी हीं थी की वहाँ काम कर रही दीदी (काम करने वाली बाई) ने मुझे देखते हुए हीं बोला–

– दीदी कल भेलेसटाइन दिन था। आपने मनाया.!

– क्या.? कौन से दिन के बारे में बात कर रही हो आप दीदी!(मैं फाइल हाथ में लेकर रुक कर उनकी तरह देखते हुए बोली)

– भेलेसटाइन दिन। वो प्रेमी लोग जो मनाते हैं न वो!

– नहीं मनाया।

– तो वो गुलाब काहे को परेला है उधर.? वो मैं ले लूँ।

– वो बस अच्छे लगे तो ख़रीद लिए। ले लो आप दीदी अगर आपको अच्छा लग रहा तो..

-वो जल्दी से गुलाब हाथ में ली और मेरे माथे को चूमते हुए बोली…ठंक उ दीदी❤

~ अब वो गुलाब बालों में लगा कर काम कर रही थीं  और कुछ गुनगुनाते हुए बहुत खुश दिख रही थीं और मैं ये सब देख के गुलाब के क़िस्मत पर ख़ुश हो रही थी!

 और..जितनी परेशान अबतक थी सब भूल गयी थी और अब मेरे चेहरे पर भी मुस्कराहट थी अजीब सी..चेहरे पर भी अब तेज आ गया था और ये सब आज बस दीदी के मासूमियत को देख कर हीं हुआ था!! अब मैं भी प्यार से ओत-प्रोत हो कर ऑफिस के तरफ जा रही थी और मन हीं मन बहुत खुश भी थी!!❤❤ दीदी को लगाव गुलाब से था और मुझें लगाव हैं तो बस प्यारी सी मुस्कान से! यही तो होता हैं लगाव में…लगाव मन को खुशियों से भर देता हैं यूँ हीं बेवजह!!❤ 
❣EmotionalQueen All Rights Reserved©
                       2k17©आपकी…Jयोति🙏

Advertisements

47 thoughts on “#Loveuary ❤Affection! #Day15

      1. अभी तो में बहुत तुच्छ सा लेखन करता हूँ ये तो आप लोगों की उदारता है जो इतना उत्साहवर्धन करते हैं आप लोग वरना कुछ भी नहीं हूँ

        Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s