❤मैं…मेरे भाई और फोन!

#sibling #love #life #missyou #blog #Respect

मैं ,मेरे भाई और फ़ोन का रिश्ता आजकल मेरे जीवन का सबसे खूबसूरत रिश्तों में से एक है। एक वक़्त था जब हम एक साथ एक शहर में रहते थे और आज का वक़्त है हम तीनों,..तीन शहर में रहते हैं! लेकिन आज भी हम साथ है इस फोन के सहारे और अपनी ज़िंदगी चल रही है आज भी एकसाथ…आज से 7साल पहले जब भैया हमदोनो से अलग हो रहे थे तो हमलोगों ने बहुत आँसू बहाए लेकिन फिर भी मेरे पास मेरा छोटा भाई था और उसके पास मैं, हमलोग जल्दी संभल गए लेकिन भैया तो आज भी जब हमसे दूर जाते है तो उनकी आँखें नम होती है और वो हमसे नज़रें चुराते हैं…कहने को आज वो हमसे बहुत दूर है फिर भी वो मेरे पास हीं रहते हैं हरदम,..गर मैं बहुत परेशान रहूँ और हँसते हुए फोन उठा लूँ फिर भी वो आवाज़ सुन के ही पूछते है क्या हुआ तुझे बता पहले। मैं चुप हो जाती हूँ फिर भी सब समझ जातें है वो…यूँ तो हमारी रोज बात होती है लेकिन एक रोज भी न हो तो बेचैनी सी लगती है,फिर भी एक सुकून ये सोच के आता है चलो थक गए होंगे और देर से आये होंगे तो आराम कर रहे होंगे! कितने भी परेशान रहेंगे फिर भी कहेंगे टेंशन मत लेना मै ठीक हूँ…लेकिन शायद उन्हें पता हीं नहीं कि उनके परेशानी को मैं अच्छे से महसूस कर लेती हूँ हर बार और जब चाह के भी उस परेशानी को दूर नहीं कर पाती तो बहुत रोना आता है मुझे…
कहने को तो प्यार, दुलार बस शब्द मात्र हीं है लेकिन इसको मूर्त रूप वो हीं देते हैं..एक वो ही तो है इस दुनिया में जो मुझे समझते हैं…

जितना लिखूँ कम होगा सब कुछ क्योंकि,…माँ-पापा का मिलाजुला संगम उनमें हीं पाया है मैंने!!

यूँ तो शब्दों से खेलना बखूबी जानती हूँ मैं फिर भी कुछ अनुभूतियाँ ऐसी होती है जिन्हें कभी कभी शब्दों में व्यक्त करना बहुत ही कठिन होता है…शायद शब्दों में इतना सामर्थ ही नहीं है जो मेरे सच्चे स्नेह,अपनत्व और प्रेम को व्यक्त कर सके!!❤

वक्त बेवक्त खुद को ही बयां करती हूँ..

मुझमें इक छोटा सा शहर बसता है जज़्बातों का!!

© Emotional Queen All Rights Reserved 2k17


                           ©2k17आपकी…Jयोति🙏

Advertisements

59 thoughts on “❤मैं…मेरे भाई और फोन!

  1. Your brother is blessed to have so lovely sister & the way you pen words wrapped in real emotions made anyone speechless.
    Aur woh aakhiri ka sher zabardast hai👌😇
    Ye vadyayantra aur taknik kabhi kabhi achi lagti hai jab ek awaaz ya tasveer se meelo ki duriya kuch der ke liye nazdeek ho jaati hai.
    Love & lights to your way..and this phone played an important role keeping me close here to my lovely sister😅👯😇

    Liked by 2 people

    1. मैं ठीक हुँ सुप्रीत आप कैसे हैं?? जी मिलना भी होता है जब तीनो एक साथ हीं वेकेशन प्लान करते हैं…हर 2मंथ पे घर!!😊😊

      Liked by 2 people

  2. 👏👏👏👍बड़ा मुश्किल होता है.आँसुओ को छिपाना और मुस्कुराना.जताना कुछ हुआ नही सब ठीक हो जैसे.रहना एक आसमाँ के नीचे और जमी पर अलग अलग.महसुस हो कमी आँखो में नमीं और कुछ कर नहीं पाना.शायद सब कुछ बस में नहीं.फिर भुलाना सब मुस्कुराना और साथ चलते जाना.भाई बहन का रिश्ता ही ऐसा है दूरिया दूर नही करती और भी पास लाती हैं.

    Liked by 5 people

      1. स्वागत ज्योति जी वाकई आपको शब्दों पर कब्ज़ा है सच कहा आपने कि कही कहीं ये शब्द भी कम पड़ जाते हैं। बहुत अच्छा।

        Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s